Browse:
966 Views 2019-07-05 05:45:30

सूर्य की मजबूती से मिलता है मान—सम्मान और सफलता

सूर्य की मजबूती से मिलता है मान—सम्मान और सफलता

सूर्य धरती पर जीवन का कारक है।ज्योतिषशास्त्र में सूर्य को नौ ग्रहों का राजा कहा है।कुण्डली में सूर्य की मजबूती से व्यक्ति को मान—सम्मान व कार्यक्षेत्र में श्रेष्ठ सफलता मिलती है। सूर्य के कमजोर होने पर अपमान,असफलता व नुकसान उठाना पडता है। सूर्य ग्रह को मजबूत करने के लिए कई अचूक उपाय है जिससे सकारात्मक परिणाम मिल सकते हैं।

ज्योतिष में सूर्य का महत्व – ज्योतिष अनुसार किसी भी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य पिता का प्रतिनिधित्व करता है। सूर्य सरकारी नौकरी,सत्ता और समाज में मान—सम्मान का भी कारक होता है। सूर्य सिंह राशि का स्वामी है और मेष राशि में उच्च व तुला में नीच का होता है।

मजबूत सूर्य से मिलने वाले सकारात्मक परिणाम – कुंडली में सूर्य की शुभ स्थिति होने पर अलग—अलग परिणाम मिलते हैं। सूर्य के उच्च होने पर इंसान के अंदर सकारात्मक सोच का विकास होता है और कार्य करने को लेकर नई ऊर्जा व आत्म-विश्वास मिलता है।

अशुभ सूर्य से हानियां – कुंडली में सूर्य की अशुभ स्थिति से नकारात्मक परिणाम और परेशानियां मिलती हैं। सूर्य के अशुभ प्रभाव से परिवार,रिश्तेदारों में सम्मान की कमी और अपमान, राज्य,सरकारी पक्ष से तनाव,नौकरी,व्यवसाय में हानियां उठानी पड जाती है।

सूर्य मजबूत करने के अचूक उपाय – सूर्य ग्रह के विशेष उपाय कर कुंडली में मजबूती प्रदान की जा सकती है। रविवार सूर्य ग्रह का दिन है इसलिए इस दिन जरूरी बातों का ध्यान रख और उपाय कर सूर्य की मजबूती की जा सकती है।रविवार के दिन जल्दी उठकर स्नान के पश्चात तांबे के लोटे में शुद्व पानी से सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए और ॐ घृणि सूर्याय नम: अथवा ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए। रविवार को नमक नहीं खाना चाहिए। रविवार को व्रत व आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करने से सूर्य संबंधित परेशानियां समाप्त होती हैं।

दान – कुंडली में सूर्य दोष को खत्म करने के लिए दान करना एक सरल उपाय है। इसके लिए तांबा,गुड,गेंहू सूर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करने का महत्व है। खासकर रविवार व मकर संक्रांति के दिन दान करने से सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं।

रत्न धारण – कुंडली में सूर्य की कमजोर स्थिति होने पर ज्योतिषीय सलाह अनुसार रविवार को शुभ मूहर्त में सूर्य ग्रह का रत्न माणिक्य धारण कर सकते हैं।

इस तरह मिट्टी से बनी वस्तुओं को घर में रखने व बर्तनों में भोजन करने से सकारात्मक परिणाम मिलते हैं और वास्तु दोष दूर होकर सुख—समृद्वि का वातावरण बनता है।

इस तरह सूर्य ग्रह के इन विशेष उपायों से कुंडली में सूर्य की मजबूती से अनुकूल परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं।

कुंडली संबंधित समस्याओं के समाधान व अधिक जानकारी के लिए पंडित पवन कौशिक से करें संपर्क:+91-9999097600

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*