Browse:
613 Views 2019-03-26 06:06:13

वास्तु दोष बनते हैं वैवाहिक जीवन में तनाव का कारण

वास्तु दोष बनते हैं वैवाहिक जीवन में तनाव का कारण

विवाह प्रमुख संस्कारों में से एक होता है और सुखमय व शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए पति—पत्नी के रिश्ते में हमेशा प्रेम व भरोसा बना रहना आवश्यक है। इसी सोच के साथ वर व वधू विवाह के बाद अपने जीवन की नई शुरूआत करते हैं।

मगर कई नवविवाहित जोडे की जिंदगी में शादी के कुछ दिन बाद ही परिस्थितियां बदलने लगती हैं और प्रेम व विश्वास के साथ शुरू हुआ वैवाहिक जीवन आपसी तनाव व झगडों के बाद टूट जाता है।शादी बाद इस तरह अचानक हुए बदलाव का कारण घर में वास्तु दोष होते हैं जिन्हें जल्दी से जल्दी दूर किया जाना आवश्यक होता है।

बेडरूम एक ऐसी जगह है जहां पति और पत्नी एक साथ सुख, दु:ख के क्षण बिताते हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार बेडरूम के अंदर और आस-पास की ऊर्जा पति—पत्नी के रिश्ते पर अपना प्रभाव जरूर डालती है।

  • वास्तु नियम अनुसार बेडरूम बनाया गया है तो सकारात्मक ऊर्जा बनी रहने से शादी बाद सब कुछ अच्छा चलता है और अगर वास्तुदोष है तो नकारात्मक ऊर्जा की वजह से पूरा रिश्ता प्रभावित होता है।
  • बेडरूम में पति—पत्नी को अपने पलंग पर दो अलग-अलग गद्दों का उपयोग नहीं करना चाहिए क्यों कि इससे वास्तुदोष बनता है और नकारात्मक ऊर्जा बनने से दोनों के बीच तनाव होता है।
  • बेडरूम में बीम का होना भी शादीशुदा जिंदगी में खटास पैदा होने का प्रमुख कारण होता है इसलिए बीम के नीचे पलंग नहीं रखना चाहिए अन्यथा इस रिश्ते में दूरियां आ सकती हैं।
  • नमक नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने में प्रमुख रूप से कार्य करता है इसलिए बेडरूम में सप्ताह में कम से कम एक बार नमक मिले पानी का पौछा जरूर लगवाना चाहिए।
  • आज के समय में धातु से बने पलंगों का उपयोग ज्यादा किया जाता है मगर वास्तुशास्त्र में धातु से निर्मित पलंगों को उचित नहीं माना है और इन्हें बेडरूम में काम लिए जाने से पति—पत्नी के रिश्ते में नकारात्मकता का प्रवेश होता है इसलिए लकड़ी से बने पलंगों का उपयोग किए जाना श्रेष्ठ रहता है।
  • बेडरूम में इलेक्ट्रॉनिक्स चीजों के मौजूद रहने से इनसे निकलने वाली विद्युत ऊर्जा सकारात्मक ऊर्जा को कम कर देती है जिससे नकारात्मकता का संचार होने से दंपत्ति के मन—मस्तिष्क पर विपरीत प्रभाव पडता है।
  • तस्वीरें भी वातावरण में अपना असर डालती हैं। अगर बेडरूम में देवी— देवताओं या मृत पूर्वजों की तस्वीरें रखी जाती हैं तो इनका नकारात्मक असर दिखने लगता है जिसका परिणाम दांपत्य जीवन में भुगतना पडता है इसलिए ऐसी तस्वीरों की बजाय हंसते हुए बच्चों की तस्वीरें लगाई जा सकती हैं जिससे प्रेम व विश्वास बढने से रिश्ते में मजबूती आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*